Friday, December 3, 2021

औषधीय गुणों से भरपूर है जायफल, शादीशुदा पुरूष बस चुटकी भर करें इस्तेमाल ये इंडोनेशिया मसाला

Benefits of Nutmeg: भारत को मसालों की धरती कहा जाता है. भारतीय किचन में आपको कई तरह के मसाले मिलेंगे. यह सभी मसाले सिर्फ भोजन का स्वाद ही नहीं बढ़ाते, बल्कि स्वास्थ्य को भी कई लाभ पहुंचाते हैं. इन्हीं मसालों में से एक है जायफल. जायफल सिर्फ एक मसाले से अधिक है जो भोजन के स्वाद और गंध को बढ़ाता है.

दवा से भी ज्यादा फायदेमंद है दूध में पिसी हुई चिरौंजी, सर्दी-जुकाम से लेकर दूर करेगी शरीर की कमजोरी

इसका इस्तेमाल व्यंजनों में कम से कम किया जाता है. इसमें पोषण मूल्य की भी बहुत अधिक है. यह कई बीमारियों को दूर करने में मदद करता है. आपकी रसोई में मौजूद जायफल (Nutmeg) भी इम्यून सिस्टम को स्ट्रॉन्ग बना सकता है.

अपनी मीठी सुगंध के लिए जाना जाने वाला यह मसाला वास्तव में एक सदाबहार पेड़ का बीज है जो इंडोनेशिया का मूल निवासी है, जिसे मिरिस्टिका फ्रेग्रेंस के रूप में जाना जाता है. तो चलिए आज हम आपको इस बारे में बता रहे हैं−

इंडोनेशिया का फल है जायफल
ये इंडोनेशिया का फल है जो कि एक सदाबहार पेड़ का बीज है जिसे मिरिस्टिका फ्रैग्रांस के रूप में जाना जाता है. यह पेड़ दक्षिण भारत में भी उगाया जाता है. इसे खाकर इम्यूनिटी बढ़ाई जा सकती है. सिर्फ इतना ही नहीं जायफल खाने से ब्लड शुगर लेवल भी कंट्रोल में रहता है और लोगों में सेक्स पावर भी बढ़ती है. आइए जानते हैं जायफल खाने से आपको क्या फायदे हो सकते हैं.

पीरिएड के दर्द से तुरंत छुटकारा पाने के लिए पेनकिलर नहीं, अपनाएं ये घरेलू नुस्खे मिलेगी राहत

​इम्यूनिटी बढ़ाता है जायफल
इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए एक गर्म कप दूध, आधा चम्मच शहद, पिसी हुई इलायची और 2 चुटकी जायफल पाउडर डालकर पिएं. इससे न केवल आपकी इम्यूनिटी बूस्ट होगी बल्कि आपको रात को नींद भी अच्छी आएगी.

सांसों की दुर्गंध के लिए
जायफल तेल में एंटीबैक्टीरियल गुण होते हैं. इसका इस्तेमाल कई टूथपेस्ट में भी किया जाता है. ये मुंह में बदबू पैदा करने वाले बैक्टीरिया को खत्म करने में मदद कर सकता है. इससे मसूड़ों की सूजन और दांतों में होने वाले दर्द में राहत मिल सकती है.

हो जाएगी सब बीमारियों की छुट्टी, बस सुबह उठकर रोज खाएं मुठ्ठी भर भुने चने

आएगी बेहतर नींद, ​अनिद्रा की समस्या होगी दूर
जिन लोगों को रात में नींद न आने की परेशानी है वह हर रोज जायफल की एक छोटी सी खुराक ले सकते हैं. ऐसे लोगों के लिए जायफल काफी बेहतर साबित हो सकता है. ऐसे लोगों को लंबे समय तक इसका हर रोज सेवन करना होगा. इसके लिए सोने से पहले एक गिलास दूध के साथ एक चुटकी जायफल का सेवन जरूर करें.

अच्छी नींद चाहिए तो रात में सोने से पहले दूध में मिलाएं एक चम्मच घी, फिर देंखे 7 जबरदस्त फायदे

दवाओं और कॉस्मेटिक चीजों में होता है प्रयोग
जायफल तेल का इस्तेमाल दवाओं और कॉस्मेटिक चीजों के लिए किया जाता है. आयुर्वेद में इसका काफी महत्व है. इसमें कई सारे पोषक तत्व होते हैं. जायफल में फाइबर, थियामिन, विटामिन बी 6, फोलेट, कॉपर, मैक्लिग्रान और मैग्नीशियम जैसे पोषक तत्व होते हैं. आइए जानें कई स्वास्थ्य समस्याओं को दूर करने में ये तेल कैसे मदद करता है.

सेक्स ड्राइव को बेहतर बनाता है
जायफल एक तरह का गर्म मसाला होता है. इसके अलावा आपको बता दें कि जायफल एक प्रकार का देसी वियाग्रा की तरह काम करता है. ऐसे में खाने में इसका इस्तेमाल करने से आपको काफी फायदा मिल सकता है. लेकिन इसका सेवन बहुत कम मात्रा में करना चाहिए. जायफल के सेवन से लोगों की सेक्स ड्राइव भी सही रहती है. इस खाने से लिबिडो बढ़ता है जो फर्टिलिटी में सहायक होता है.

रहेगा ब्लड शुगर लेवल कंट्रोल में 
जायफल एंटी इंफ्लेमेटरी गुणों से भरपूर है और यह ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल में रखता है. इसमें साबिनिन, टेरपिनोल और पिनीन शामिल हैं जो शरीर में होने वाली पुरानी सूजन, दिल संबंधी रोग, मधुमेह और गठिया से राहत दिलाने में भी कारगर है.

रात को पानी में भिगो दें 7 से 8 काली किशमिश, सुबह खाली पेट पिएं इसका पानी फिर देखिए कमाल

दांत दर्द में राहत
दांत के दर्द में जायफल का सेवन किया जाता है. जायफल के सेवन से दांत के दर्द को भी खत्म किया जा सकता है. काढ़े में जयफल को शहद मिलाकर पीने से दांत और मसूड़ों की समस्या में राहत मिलती है.

कोलेस्ट्रॉल के लेवल को करें कम
जायफल का नियमित सेवन रक्त में लिपिड और लिपोप्रोटीन को कम करने के लिए जाना जाता है. आसान  शब्दों में कहें तो जायफल कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करने में मदद कर सकता है. हालांकि इस बात का ध्यान रखें कि आप इसका सेवन लेकिन ज्यादा ना करें.

ये हो सकते हैं जायफल के नुकसान

जायफल की तासीर काफी गर्म होती है. इसका अधिक सेवन आपके शरीर को नुकसान पहुंचा सकता है. इससे आंख में जलन, सिरदर्द, चक्कर, त्वचा में लाल चकत्ते, मुंह सूखना आदि की समस्या हो सकती है. इसलिए इसका इस्तेमाल सीमित मात्रा में ही किया जाना चाहिए.

डिस्क्लेमर
इस लेख में दी गई सेहत से जुड़ी तमाम जानकारियों को सूचनात्मक उद्देश्य से लिखा गया है. इसे किसी बीमारी के इलाज या फिर चिकित्सा सलाह के तौर पर नहीं देखना चाहिए. यहां बताए गए टिप्स पूरी तरह से कारगर होंगे इसका हम कोई दावा नहीं करते हैं. यहां दिए गए किसी भी टिप्स या सुझाव को आजमाने से पहले डॉक्टर से सलाह जरूर लें.

बिना झंझट आसानी से घर रहकर ही करें वजन कम, रोज निकालें बस 10 मिनट, करें ये काम

WATCH LIVE TV

 

 

Source link

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments