Friday, December 3, 2021

इस तरह न करें तुलसी के पत्तों का सेवन, सेहत को हो सकता है खतरा, जानिए सही तरीका

Disadvantages Of Tulsi: तुलसी (Tulsi) के पौधे में औषधीय गुण होते हैं जो आपको कई तरह की बीमारियों से दूर रखने में मदद करता है. हम तुलसी के पत्तों का इस्तेमाल काढ़ा बनाने के लिए करते हैं. इससे हमारी इम्युनिटी मजबूत रहती है. इसके अलावा चाय में डालकर पीने से खांसी, जुकाम, पेट दर्द आदि की समस्या से छुटकारा मिलता है. हिंदू धर्म में तुलसी के पौधे को सबसे पवित्र माना जाता है. 

इन चीजों को खाने के तुरंत बाद भूलकर भी न पीएं पानी, हो सकते हैं बड़े नुकसान

हम सभी भारतीय लोगों के घर में तुलसी की पौधा लगा होता है जिसकी पूजा होती है. कई लोग तुलसी के पत्तों को चबाकर खाते हैं. लेकिन शायद आप नहीं जानते होंगे कि तुलसी के पत्तियों को चबाकर खाना आपकी सेहत के लिए नुकसानदायक हो सकता है. आइए जानते हैं तुलसी की पत्तियों को चबाकर खाने से या तुलसी के पत्तों को ज्यादा मात्रा में खाने से क्या नुकसान होता है और किस तरह इस्तेमाल किया जा सकता है. 

तुलसी के साइड इफेक्ट्स (Side Effects Of Tulsi) 

दांतों को करते हैं खराब
तुलसी के पत्तों को चबाकर खाना दांतों के लिए नुकसान दायक साबित हो सकता है. तुलसी के पत्तों में पारा और आयरन की मात्रा पाई जाती है. इसमें कुछ मात्रा में आर्सेनिक भी पाया जाता है, जिससे दांत खराब हो सकते हैं. इससे दांतों में दर्द की समस्या हो सकती है.

हो जाएगी सब बीमारियों की छुट्टी, बस सुबह उठकर रोज खाएं मुठ्ठी भर भुने चने

खून होता है पतला 
तुलसी के पत्तों का अधिक सेवन करने से खून पतला हो सकता है. तुलसी के पत्तों में ऐसी प्रॉपर्टीज पायी जाती है. जो खून को पतला करने के लिए जानी जाती है. जो आपके लिए हानिकारक हो सकता है. ऐसे में जो लोग वालफरिन और हेपरिन जैसी दवाओं का सेवन करते हैं उन्हें तुलसी के पत्तों का सेवन नहीं करना चाहिए.

पेट में जलन
तुलसी की तासीर गर्म होने के कारण इसका अत्यधिक सेवन करने से पेट में जलन पैदा हो सकती है. इसलिए तुलसी का सेवन सीमित मात्रा में ही करें.

गर्भवती महिलाओं को होता है नुकसान
गर्भवती महिलाएं अगर तुलसी के पत्तों का अधिक सेवन करती हैं तो इससे उनके और बच्चे की सेहत पर बुरा असर पड़ सकता है. तुलसी में यूजेनॉल नामक तत्व पाया जाता है. जो पीरियड शुरू होने का कारण बन सकता है. तुलसी के अधिक सेवन से प्रेगनेंसी में डायरिया की समस्या भी हो सकती है.

अच्छी नींद चाहिए तो रात में सोने से पहले दूध में मिलाएं एक चम्मच घी, फिर देंखे 7 जबरदस्त फायदे

डायबिटीज
डायबिटीज के मरीजों को तुलसी के सेवन से बचना चाहिए. माना जाता है कि तुलसी, ब्लड शुगर को कम करने का काम करती है. ऐसे में वे लोग जो डायबिटीज या हाइपोग्लाइसीमिया के मरीज हैं और शुगर की दवाइयां ले रहे हैं. अगर वे तुलसी का सेवन करते हैं, तो उनके ब्लड शुगर में बहुत ज्यादा कमी आ सकती है. जो उनके लिए नुकसानदायक हो सकता है.

ये तो हैं तुलसी के पत्तों का ज्यादा इस्तेमाल से नुकसान, अब जानते हैं कि कैसे इन पत्तों को इस्तेमाल कर सकते हैं.

बुखार में कमजोरी दूर करने के लिए खाएं ये 5 चीजें, मिलेगी ताकत और जल्दी होंगे ठीक

इस तरह करें तुलसी के पत्तों का सेवन

  • तुलसी की पत्तियों को पानी में उबाल कर इसका सेवन कर सकते हैं.
  • आप तुलसी के पत्तों को मिलाकर उसकी टेबलट बना सकते है.
  • तुलसी का सेवन करने के लिए आप इसकी पत्तियों को कूट कर चाय में डाल सकते हैं.
  • तुलसी की पत्तियों को पीसकर पानी में मिलाकर इसका सेवन कर सकते हैं
  • तुलसी का सेवन करने के लिए आप बाज़ार में उपलब्ध टेबलेट तुलसी घनवटी इस्तेमाल कर सकते हैं.
  • तुलसी की पत्तियों को छाया में सुखाकर पीसकर इसका पाउडर बनाकर इसका सेवन कर सकते हैं.
  • तुलसी का सेवन करने के लिए आप बाजार में मौजूद तुलसी पंचांग जूस का सहारा ले सकते हैं.

इस तरह आप रोजाना इसका सेवन करने से मौसमी संक्रमण से बचे रह सकते है.

डिस्क्लेमर
इस लेख में दी गई सेहत से जुड़ी तमाम जानकारियों को सूचनात्मक उद्देश्य से लिखा गया है. इसे किसी बीमारी के इलाज या फिर चिकित्सा सलाह के तौर पर नहीं देखना चाहिए. यहां बताए गए टिप्स पूरी तरह से कारगर होंगे इसका हम कोई दावा नहीं करते हैं. यहां दिए गए किसी भी टिप्स या सुझाव को आजमाने से पहले डॉक्टर से सलाह जरूर लें.

कई रोगों को मिनटों में करेगा दूर तेजपत्ते का काढ़ा, जानें बेशुमार फायदे और बनाने की विधि

WATCH LIVE TV

Source link

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments