Tuesday, December 7, 2021

महिलाएं घर बैठे आसानी से करें ये 5 हेल्थ चेकअप, बाद में नहीं होगी कोई परेशानी

Women Health Check-up At home: महिलाएं मल्टी टॉस्किंग होती हैं, उनमें घर से लेकर ऑफिस तक में काम करती हैं. घर परिवार और ऑफिस में बखूबी अपना किरदार निभाने वाली महिलाओं को अपने लिए भी वक्त निकालना जरूरी है.

आप सेहतमंद रहती हैं ये अच्छी बात है, लेकिन वक्त के साथ-साथ बॉडी में कई तरह के बदलाव और परेशानियां पैदा हो सकती है, जिसका समय पर इलाज हो जाए तो बड़ी परेशानी से बचा जा सकता है. महिलाओं को नियामित समय अंतराल पर रेगुलर कुछ चेकअप कराने की जरूरत होती है ताकि उनकी सेहत ठीक रहे.

Home Remedies: पीरियड्स टालने के लिए दवाई नहीं, अपनाएं ये घरेलू नुस्खे

हम रेग्यूलर डॉक्टर के पास नहीं जा सकते हैं पर कुछ चेकअप आप आसानी से घर बैठकर भी कर सकती हैं.  कह सकते हैं कि ये बुनियादें जाचें हैं जो आप घर भी आसानी से कर सकती हैं आइए जानते हैं.. 

प्रेगनेंसी टेस्ट
प्रेगनेंसी टेस्ट अब आसानी से कर सकती है. मार्किट में अब बहुत सी ब्रांड की किट मिल जाती है. पर पूरी तरह से इनकी सत्यता पर यकीन न करें. अगर वे सही तरीके से उपयोग किए जाते हैं तो अत्यधिक सटीक हैं. यह टेस्ट आपके मूत्र में हार्मोन के स्तर की जांच करके काम करता है. सबसे सटीक रिजल्ट के लिए, आपको अपनी अवधि याद करने के एक हफ्ते के बाद परीक्षण का उपयोग करना चाहिए. अगर पॉजिटिव है, तो डॉक्टर से जांच कराएं. अगर निगेटिव हो, तो भी आपको डॉक्टर से जांच करवानी चाहिए. 

इस तरह न करें तुलसी के पत्तों का सेवन, सेहत को हो सकता है खतरा, जानिए सही तरीका

सेल्फ ब्रेस्ट एग्जाम
स्तन कैंसर के केस भारत में काफी पाए जाने लगे हैं. ये बीमारी खतरनाक दर से बढ़ रही है. ऐसे में, आपके लिए अपनी हेल्थ पर नज़र रखनी चाहिए. बीमारी के किसी भी शुरुआती संकेत या लक्षण की जांच करना बहुत महत्वपूर्ण है. इस टेस्ट के लिए आप, अपने ऊपरी शरीर को शीशे के सामने नग्न रखें ताकि आप अपने स्तन को अच्छी तरह से देख सकें. स्किन के डिम्पल, लालिमा या खुरदरापन देखें और दो स्तनों के बीच अंतर की जांच करें. कुछ भी फर्क महसूस हो और स्तनों में दर्द हो तो फौरन डॉक्टर से संपर्क करें.

क्या है जिंक और विटामिन-C लेने का सही तरीका, जानें कितनी मात्रा है शरीर के लिए जरूरी

दूसरी विधि है कि आप लेट जाएं- दाहिने हाथ को अपने सिर के ऊपर उठाएं और बगल में शुरू होने वाले दाहिने स्तन पर महसूस करने के लिए अपने बाएं हाथ की तीन अंगुलियों का उपयोग करें. दूसरी तरफ भी इसे दोहराएं. यह विधि पहले सुझाई गई विधि से अलग है.

UTI की जांच
मूत्र पथ के इंफेक्शन महिलाओं के लिए बहुत परेशान कर सकते हैं. यूरिन करते समय जलन और बार-बार पेशाब करने की इच्छा होना यूटीआई का संकेत है. अगर आपको लगता है कि आपके पास एक यूटीआई है, तो एक ओवर-द-काउंटर परीक्षण आपको इसकी पुष्टि करने में मदद कर सकता है. अगर टेस्ट Positive दिखाता है तो तुरंत अपने चिकित्सक से मिलें और एएसएपी (ASP) कराएं. देरी गुर्दे के साथ गंभीर समस्याएं पैदा कर सकती है. निगेटिव होने पर भी आप डॉक्टर से संपर्क करें.

ग्लूकोज टेस्ट
इसे परावर्तक ग्लूकोज मॉनिटरिंग के रूप में भी जाना जाता है. यह परीक्षण शुगर रोगियों के लिए उनके रक्त शर्करा के स्तर की जांच के लिए है. यह शुगर के पेशेंट को अपने रक्त शर्करा के स्तर पर एक टैब रखने और यह जांचने में मदद कर सकता है कि वे ओवरटाइम बढ़ा रहे हैं या नहीं. ब्लड शुगर के लेवल की नियमित निगरानी के लिए घर पर आसानी से इस्तेमाल होने वाला ब्लड शुगर मॉनिटर रखा जा सकता है.

इन चीजों को खाने के तुरंत बाद भूलकर भी न पीएं पानी, हो सकते हैं बड़े नुकसान

WATCH LIVE TV

Source link

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments